औषधीय शैम्पू क्या होते हैं ? (What Are Medicated Shampoos?)

Medicated Shampoos
औषधीय शैम्पू (Medicated Shampoo), वे शैम्पू (shampoo) होते हैं, जिन्हें कुछ बीमारियों (ailments) और समस्याओं (problems) के उपचार (treatment)  के उद्देश्य से बनाया जाता है, जो ख़ास उन बालों या खोपड़ी (scalp) केलिए प्रभावकारी होते हैं |  कुछ औषधीय शैम्पू (Medicated Shampoo), बालों और खोपड़ी (scalp) से सम्बंधित समस्याओं (problems) दोनों को निशाना बनाते हैं |  सामान्य प्रकार के शैम्पू (shampoo) है दैन्द्रफ्फ़ (dandruff), सेबोर्ही (seborrhea) और लैस (lice) |

शैम्पू (shampoo), जो रूसी (Dandruff) के उपचार (treatment)  केलिए होते है, वे मृत त्वचा की कोशिकाओं (dead skin cells) को, जिसमें रूसी (Dandruff) होती है, उसे निकाल कर, त्वचा के नीचे की कोशिकाओं (cells) का उपचार (treatment)  भी करती है |  मृत त्वचा की कोशिकाओं (dead skin cells) के  नीचे की त्वचा की स्थिती को सुधारती है, जिससे खोपड़ी (scalp) कम रूसी (Dandruff) पैदा करती है |   विभिन्न प्रकार के शैम्पू (shampoo) है, जिन्हें औषधीय (drug) या फार्मेसी (pharmacies) दुकानों से खरीदा जा सकता है |  अत्यधिक गंभीर स्थिती केलिए एक पर्ची (prescription)  पर लिखे ताकतवर शैम्पू (strength shampoo) की आवश्यकता होती है |  औषधीय शैम्पू (Medicated Shampoo) की पर्ची (prescription)  अक्सर डॉक्टर या देरमेतोलोजिस्ट (dermatologist) द्वारालिखी जाती है |

जूँ (lice)  या जूँ (lice)  के अंडे निकालने केलिए अक्सर औषधीय शैम्पू (Medicated Shampoo) की आवश्यकता होती है |  स्कूल के आयु वर्ग के बच्चों केलिए ये साधारण बात बात है, कि अक्सर उनके सिर में जूँ (lice)  होती हैं |  जबकि एक उचित शैम्पू (shampoo) के उपचार (treatment)  से बच्चे के सिर पर की जूँ (lice)  मर जाती है, परन्तु घर के सदस्यों को यह सलाह दी जाती है कि इसके साथ शैम्पू (shampoo) का भी प्रयोग करें |  इसके अलावा घर के सभी कपडे और बिस्तर धोएँ, जिनके संपर्क (contact) में वे आये |   इन चीज़ों को डिटर्जेंट (detergent) के साथ गर्म पानी से धोना उत्तम होगा |

दुर्भाग्यता से, जूँ (lice)  सिर्फ सिर के बालों पर प्रभाव नहीं डालती |  जनता जूँ (public lice)  का उपचार (treatment) , सिर पर प्रयोग किये जाने वाले समान शैम्पू (shampoo) से ही किया जा सकता है |  गंभीर जूँ (lice)  मामलों में, चाहे वह सिर की हो या जनता के बालों की, पर्ची (prescription)  पर लिखी ताकतवर दवा आवश्यक हो सकती है |  इसके अतिरिक्त, इन गंभीर स्थितियों में, उन सारे कपड़ों को धोना आवश्यक होगा, जो संपर्क (contact) में आये और यहाँ तक कि गालीचा (carpet) और अन्य फर्नीचर (furniture) जो किसी प्राकृतिक (natural) या कृत्रिम कपडे (synthetic cloth) से ढंका हो उसे भी कीटाणु रहित (disinfecting) करने पर विचार करें |

जो सामग्रियां (ingredients) कुछ औषधीय शैम्पू (Medicated Shampoo) में प्रयोग की जाती हैं वह हैपो एलेर्जेनिक (hypo allergenic) नहीं है |  यदि कोई एलर्जी का आदि है, विशेष प्रकार से वह, जिससे त्वचा प्रभावित होती है तो यह शैम्पू (shampoo) को प्रयोग करने से पहले यह उचित होगा कि सूत्र की सामग्रियों (ingredients) पर किसी चिकित्सक (physician) या फार्मेसिस्ट (pharmacist) के साथ समीक्षा (review) करें |   वास्तव में जिनकी त्वचा संवेदनशील (sensitive skin) हैं, वे इस प्रकार के शैम्पू (shampoo) का सिर पर प्रयोग करने से पहले, इसका कुछ स्थान पर परीक्षण (test) करके देख लें |  स्थान परीक्षण (test) बहुत सरल होता है |  हाथ में गुनगुने पानी के साथ, शैम्पू (shampoo) की थोड़ी सी मात्रा (small quantity) लेलें, और यह निर्धारित (determine) करें कि क्या शैम्पू (shampoo) को हाथ में लेने से त्वचा की प्रक्रिया (reaction) खराब हो रही है |

क्या मुझे नेल पोलिश बेस कोट का प्रयोग करना चाहिए ? (Should I Use a Nail Polish Base Coat?)

Nail Polish Base Coat
नेल पोलिश (Nail Polish)  बेस कोट (Base Coat)(Nail Polish Base Coat) पोलिश का एक स्पष्ट कोट (clear coat) होता है, जिसे रंगीन नेल पोलिश (Nail Polish)  लगाने से पहले लगाया जाता है |  सामान्य तौर पर नाखून पर नेल पोलिश (Nail Polish)  बेस कोट (Base Coat)(Nail Polish Base Coat) लगाना एक अच्छा विचार है, क्योंकि इससे नाखून की सुरक्षा होती है और इसका मैनीक्यूर (Manicure) भी अन्य मौकों में लम्बे समय तक बाक़ी रहता है |  कुछ बेस कोट (Base Coat)बोतल में आते हैं, जो बेस कोट (Base Coat)और ऊपरी कोट (Upper Coat) दोनों के कार्य करने का दावा करते हैं |  बेस कोट (Base Coat)(base coat) और ऊपरी कोट (Upper Coat) को अलग अलग रूप में खरीदना ही एक अच्छा विचार है |

नेल पोलिश (Nail Polish)  बेस कोट (Base Coat)(Nail Polish Base Coat) का घर पर प्रयोग करने से पहले यह निश्चित कर लें कि नाखून साफ़ सुथरे और इच्छित आकार में फ़ाइल (file)किये हुए हैं |  इसके अतिरिक्त ये भी देखलें कि नाखून के बाजू की उप त्वचा नर्म तरह से दबी हुई है |  इसके बाद रुई (cotton) लेकर कुछ नेल पोलिश (Nail Polish)  रिमूवर को इस ए लगाएं और इससे नाखून को साफ़ करें, ताकि अगर उस पर कोई प्राकृतिक तेल है तो वह साफ़ हो जाएँ |  इस तेल के कारण पोलिश नाखून पर लगना बहुत मुश्किल हो जाता है |

इसके बाद नाखून पर नेल पोलिश (Nail Polish)  बेस कोट (Base Coat)(Base Coat) को लगाने का समय आगया है |  पोलिश के इस कोट को सारे नाखूनों पर बराबर मात्रा में लगाएं और इसे जल्दी सूख जाना चाहिए परन्तु थोड़ा सा चिप चिपा (tacky) रहने दें |  ये आम तौर पर चमकीली नहीं लगती |  बेस कोट (Base Coat)(base coat) को लगाने देने के बाद , उसपर नेल पोलिश (Nail Polish)  के एक या दो कोट लगायें |  ऊपर का कोट चमकीला और नाखून की सुरक्षा के योग्य होना चाहिए |

बेस कोट (Base Coat)(Base Coat) विभिन्न प्रकार के कार्य करता है |  कई बेस कोट (Base Coat)(Base Coat) में ऎसी सामग्रियां होती हैं, जिसे नाखून को ठीक रखने केलिए रूपांतरित किया जाता है, जैसे कि विटामिन ई और कैल्शियम, ये नाखून को टूटने और उसके छिले जाने से बचाते हैं |  इसके साथ ही ये नाखून की तेज़ी से वृद्धी भी करते हैं |  इसके अतिरिक्त नेल पोलिश (Nail Polish)  बेस कोट (Base Coat)(Nail Polish Base Coat), नाखून पर गहरी नेल पोश के धब्बों से उसकी सुरक्षा करता है |  बेस कोट (Base Coat)(Base Coat) के कारण नेल पोलिश (Nail Polish)  नाखून अच्छी तरह बैठ जाती है, जिससे लम्बे समय तक मैनीक्यूर (Manicure) बाक़ी रहकर, नाखून को चिकना भी बनाये रखता है |

जब सलोन (Salon) पर मैनीक्यूर (Manicure) की प्रक्रिया का संचालन किया जाता है तो नेल पोलिश (Nail Polish)  बेस कोट (Base Coat)(Nail Polish Base Coat) को का अवश्य प्रयोग किया जाता है |  बेस कोट (Base Coat)(Base Coat) कू कोई भी नेल सलोन (Salon) (nail salon), सौंदर्य पूर्ती भण्डार(beauty supply store), जो नेल पोलिश (Nail Polish)  बेचती है या औषधीय भंडारों (drug stores) से खरीदा जा सकता है |  ये बोतल अक्सर आकार और मूल्य (size and cost) में समान होते हैं |  मैनीक्यूर (Manicure) को ताज़ा और लम्बे समय तक बाक़ी रखने केलिए, नेल पोलिश पेन (nail polish pen) से नाखून के छिलकों (chips) में सुधार करते रहें |  इसके अतिरिक्त नाखून को चमकीला और खूबसूरत बनाये रखने केलिए उस पर नेल पोलिश (Nail Polish)  बार बार लगाते रहें |

पसीना पैड किसे कहते हैं ? (What Are Sweat Pads?)

Sweat Pads
पसीना पैड (sweat pad), एक ऐसा पैड (पड़) होता है, जिसे ब्लौज़ या कमीज़ के नीचे, हाथों के नीचे का पसीना रोकने तथा दाग़ और धब्बों से बचाने बचाने केलिए पहना जाता है |  पसीना पैड (sweat pad) को  कपड़ों  के नीचे अदृश्य (invisible) रखने केलिए रूपांतरित (designed) किया जाता है और ये असुविधा जनक व हाथों के नीचे ढेर (bulk) जैसे नहीं लगने चाहिए |  इसके अतिरिक्त इन्हें पोशाक के साथ लगे रहने केलिए रूपांतरित (designed) किया जाता है कि ये जब पहने जाएँ तो ये इधर उधर न हटे |

पसीना पैड (sweat pad) विशेष प्रकार से उन लोगों केलिए सहायक होते हैं, जो अत्यधिक पसीने (sweat) का अनुभव करते हैं |  जबकि माथे (brow) का पसीना (sweat) किसी रुमाल (handkerchief) से बड़ी सरलता से साफ़ किया जा सकता है, परन्तु एक कपडे का टुकडा (piece of cloth) जो पसीने (sweat) से भीग गया हो इसे सुखाना इतना आसान नहीं होता |  इस कारण कुछ लोग ऎसी नमी (dampness) से पर्याप्त रूप से बचने केलिए पसीना पैड (sweat pad) पहनते हैं |  यदि किसी को गर्म जलवायु (hot climate) में औपचारिक पोशाक (formal attire) पहनने की ज़रूरत हो, तब भी पसीना पैड (sweat pad) पहने जा सकते हैं |  क्योंकि पसीने के निशान अन्य किसी प्राचीन वस्त्र (old garment) या चोगे (gown) को खराब कर सकते हैं |  पसीना पैड (sweat pad) को पहन कर इसकी रक्षा की जा सकती है |

कुछ लोग चाहे उन्हें अत्यधिक पसीना (sweat) ना आये, फिर भी रोजाना के पसीने (sweat) को सोखने (absorb) केलिए वे पसीना पैड (sweat pad) पहनते हैं |  यह इस कारण हो सकता है कि कपडे पहनने वाला पसीने (sweat) का थोड़ा सा भी निशान (stain) अपने कपड़ों पर पसंद नहीं करता |  कभी कभी लोग इसे इसलिए पहनते है, कि वे पहने हुए वस्त्र (garment) को धोने से पहले कई बार पहन सकें |  इस प्रकार वे पसीना पैड (sweat pad) पहन कर न सिर्फ ड्राई क्लीनिंग (dry cleaning) का ही पैसा बचाते हैं बल्कि वस्त्र (garment) कम धुलने से या कम इस्त्री (iron) किये जाने से लम्बे समय तक चलता है |

कुछ पसीना पैड (sweat pad) त्याज्य (disposable) होते हैं तो कुछ को फिर से इस्तेमाल किया जा सकता है |  पुनः प्रयोज्य (re usable) पसीना पैड (sweat pad) सामान्य तौर पर प्राकृतिक धागे (natural fiber) से बने होते हैं जैसे कि कपास (cotton), और ये कुछ विशेष निर्देशों के साथ आते हैं |  पुनः प्रयोज्य पैड (re usable pads)विभिन्न रंगों में आते हैं, जैसे कि सफ़ेद, गहरा भूरा रंग (dark brown color) और काला |  रंगों की पंक्ति पहनने वाले को वस्त्र (garment) के अनुसार पसीना पैड (sweat pad) के रंग का चयन करने की अनुमति देती है |

अत्यधिक पसीने (sweat) का माध्यम शब्द है हाईपर हिड रोसिस (Hyperhidrosis) है |  हाईपर हिड रोसिस (Hyperhidrosis) मेनोपौज़ (menopause) या हाईपर थैरोई दिज्म (Hyperthyroidism) का पार्श्व प्रभाव (side effect) हो सकता है |  जो लोग इस स्थिति का अनुभव करते हैं वे पसीना पैड (sweat pad) को विशेष प्रकार से उपयोगी पाते हैं |  अत्यधिक पसीना (sweat) कम करने केलिए कुछ चिकित्सा उपचार (medical treatment) उपलब्ध हैं |  हाईपर हिड रोसिस (Hyperhidrosis) कोई चिंता की बात नहीं है, जब तक ये अन्य लक्षणों (symptoms) के साथ जुडा हो, जैसे कि सांस में तकलीफ (breath shortness), सीने में दर्द (chest pain), वज़न में कमी (weight loss) या बुखार (fever) |  यदि आपको ऐसे कोई अतिरिक्त लक्षण (symptoms) दिखायी दें तो जितनी जल्दी हो सके चिकित्सा (medical) सहायता लें |

सूखे (Dry), घुंगराले बालों (Frizzy hair) से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है?

सूखे (Dry), घुंगराले बालों (Frizzy hair) से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है? | How Do I Get Rid Of Dry, Frizzy hair?
Dry Frizzy Hair
सूखे (Dry), घुंगराले बालों (Frizzy hair) से छुटकारा पाने के लिए समय और धैर्य की आवश्यकता होती है| बालों को शानदार, और चमकदार बनाने के लिए दो सबसे महत्वपूर्ण कारकों की आवश्यकता होती है वो है नमी और संरक्षण| घुंघराले बाल (Frizzy hair) अन्य प्रकार के बाल की तरह अपनी प्राकृतिक तेलों (natural oil) को बरकरार नहीं रख पाती है, इसके लिए उचित देखभाल करना पड़ता है ताकि बालों को नुकसान से बचाया जा सके और उपचार और उत्पादों का उपयोग करके बालों में नमी को वापस लाया जाता है|

घुंगराले बालों (Frizzy hair) को पोषण और रक्षा के लिए दैनिक दिनचर्या स्थापित करना चाहिए| सूती के तकिया कवर (cotton pillow cases) को साटन (satin) या रेशम (silk) से बदल कर दिनचर्या का अच्छा शुरुआत किया जा सकता है| सूती का तकिया कवर (cotton pillow cases) बालों से प्राकृतिक तेलों (natural oil) को अवशोषित कर देता है और बालों को नुकसान पहुचाता है| साटन (satin) या रेशम (silk) से कहीं ज्यादा सूती (cotton) अधिक घर्षण (friction) प्रदान करता है, जिसके चलते बाल टूटते है|

शेम्पू (shampoo) करना नियमित सौंदर्य का एक हिस्सा है, लेकिन जिन लोगों के बाल सूखे (dry) और घुंगराले (frizzy) होते है, वे यदि अपने बालों को प्रति दिन शेम्पू (shampoo) करेंगे तों उनके बाल और भी खराब हों सकते है| इसका कारण यह है शैम्पू (shampoo) प्राकृतिक तेलों के स्ट्रिप्स (strips) बालों को माय्स्चराईज़ड (moisturized) रहने की जरूरत है| ऐसे शैंपू (shampoo) चुने जो मलाईदार (creamy) हों और जिसमे मॉइस्चराइजिंग (moisturizing) तत्व हों जैसे विटामिन ई (vitamin E) और जोजोबा तेल (jojoba oil)|

कंडीशनिंग (conditioning) सबसे महत्वपूर्ण होता है किसी भी सूखे (dry) और घुंगराले बालों (fizzy hair) की उचित देखभाल और संरक्षण के लिए| ऐसे कंडीशनर (conditioner) खरीदे जो सूखे (dry) और घुंगराले बालों (fizzy hair) के लिए बने हों, क्योंकि इसमें ऐसे तत्व होते है जो बालों की खोई हुई नमी को वापस लाते है और बालों को मुलायम बनाते है| कंडीशनिंग (conditioning) के बाद ठंडे पानी से बाल धोने से, स्टाइलिंग (styling) के दौरान बालों की रक्षा करता है क्योंकि ये बाल शाफ्ट (shaft) को बंद कर देता है|

सप्ताह में एक बार डीप कंडीशनर (deep conditioner) का उपयोग करना भी, सूखे और घुंगराले बालों (fizzy hair) के इलाज के लिए एक अच्छा विचार है| डीप कंडीशनर (deep conditioner) को और अधिक प्रभावी बनाने का एक और तरीका है वो यह है की उपचार के दौरान हेयर ड्रायर (hair dryer) के नीचे बैठा जाये| ड्रायर (dryer) से जो गर्मी निकलती है वो बाल शाफ्ट (shaft) को खोल देती है और बालों में नमी अधिक आसानी से चला जाता है|

सूखी, घुंघराला बाल (frizz hair) जब गीले होते है तब उनकी देखभाल सही ढंग से करनी चाहिए| बाल जब गीले होते है तब वो विशेष रूप से नाजुक और आसानी से क्षतिग्रस्त हों जाते है| जब तौलिया से आप अपने बालों को सूखाते है तब सावधानी बरते, क्योंकि अति उत्साही तरीके (overzealous) से तौलिया से बाल सुखाने से बाल टूट जाते है| बालों के उलझन (tangle) को सुलझाने के लिए चौड़े दाँत कंघी (wide-tooth comb) का प्रयोग करे और leave in कंडीशनर लगाए, ये आप के बालों को टूटने से बचाता है और सुरक्षा प्रदान करता है|

दैनिक आधार पर बहुत ज्यादा गर्मी का उपयोग करने से बाल शुष्क और दो मुहे (split ends) हों जाते है| गर्मी के नुकसान से बचने के लिए फ्लैट आईरन (flat iron) औए ब्लो ड्रायर (blow dryer) की सेटिंग्स (setting) को कम करे| दुर्भाग्य से कई लोगों को पूरी तरह गर्मी के उपयोग को नहीं छोड़ पाते है, लेकिन ऐसे कई प्रोडक्ट (product) है जिसे स्टाइलिंग (styling) से पहले उपयोग किया जाता है, जो बालों को सुरक्षा प्रदान करता है और नुकसान की राशि को कम करता है|

जब सूखे और घुंगराले बालों (frizz hair) को स्टाइल (style) किया जाता है, तब ऐसे प्रोडक्ट (product) का चयन करना महत्वपूर्ण होता है जो सूखापन (dryness) और घुंगरालेपन (frizz) को कम कर सके| मूस (mousse) की जगह जेल (gel) का चयन करे क्योंकि ये मुलायम प्रभाव प्रदान करता है| ऐसे प्रोडक्ट्स (products) से दूर रहने की कोशिश करे जिसमे अल्कोहल (alcohol) की अधिक मात्रा होती है, जो सूखापन का योगदान देता है| सिलिकॉन आधारित प्रोडक्ट (silicon based products) भी सहायक होता है क्योंकि ये नमी को बचाने के लिए बाल कूपों (hair follicle) को सील कर देते है|

 

मुझे उत्तम रिट्राकटेबल लिप ब्रश को कैसे चयन करूँ ? (How do I choose the best Retractable Lip Brush?)

Retractable Lip Brush
जब आप  रिट्राकटेबल लिप ब्रश (Retractable Lip Brush) को चयन करते समय कुछ बातों पर विचार करना पड़ता है | ब्रश (brush) किस चीज़ से बनी है  बात को अलग रखकर , जिस ब्रश को उपयोग करने वालों से अच्छी समीक्षा (review) मिलती   है, उसी ब्रश को चयन करनी चाहिए |  कुछ रिट्राकटेबल लिप ब्रश  ब्रश लगातार इस्तेमाल करने से टूट जाते हैं, फिर भी कुछ ब्रशस दूसरी ब्रशस  से ज्यादा अच्छी तरह से बनाये होतें हैं |

साधारण से, कीमती  रिट्राकटेबल लिप ब्रश दो महीनों से ज्यादा नहीं टिकता,लेकिन ये बात हमेश नहीं होता | ब्रश को ऐसा चयन करे कि दोनों तरफ बंद हो क्यूंकि जब आप ब्रश को उपयोग नहीं करते समय, धूल और गंदे कण, ब्रश के अन्दर घुसना  नहीं चाहिए | कुछ ब्रश, केस (case) के साथ आतें हैं, जो व्यवहारिक और  रक्षण (practical and protective) के दोनों रूप होते हैं, बल्कि कुछ दूसरी तरह की  ब्रशस एक तरफ खुला रहता है जिससे गंदे कण को आकर्षित करता है |

एक और मुख्या बात यह है कि  आप रिट्राकटेबल लिप ब्रश  खरीदनी हो तो, अच्छी चीजों से बनी हुई ब्रश को लेना चहिये | वास्तविक बालों से बनी हुई ब्रश अच्छी होती है और उसको आप खरीद सकते है, जो कृत्रिम  ब्रश (synthetic brushes) से थोडा ज्यादा कीमत लगता है | नईलान ब्रशस  (nylon brushes) को उपयोग करने केलिए सलाह नहीं देते क्यूंकि ये बहुत आसानी से टूट जाते है | आगर आप को मानवोचित (humane) रिट्राकटेबल लिप ब्रश  को खरीदना है तो, नईलन ब्रश (nylon brush) को छोड़कर, कृत्रिम चीजों से बनी ब्रश को आप खरीद सकते है |

एक  लिप ब्रश को बहुत सूक्ष्म बालों से बनी हो जो कड़ी हो (stiff) और साथ ही आसानी से सब तरफ मोड़ सके (maneuverable) |  ढीला बाल (loose hair) होतो, होंटो पे रंग बराबर लगाने से नहीं होता | लिप ब्रश को नुकीली (pointy tip) होना चाहिए क्यूंकि इस तरह की ब्रश की नोक से लिपस्टिक लगाना आसान होता है | अनेक ब्यूटी स्टोर्स (beauty Stores) से अलग अलग ब्रश किट्स (brush Kits) में, लिप ब्रश के  साथ ही , सारी तरह की ब्रशस होते हैं और आप अलग से लिप ब्रश को खरीदने की ज़रुरत नहीं पड़ती |

जब किट्स ज्यादा कीमती नहीं है (cost effective) और सुविधाजनक (convenient) हैं तो,  आपको  अपनी पसंद की सारी तरह की ब्रशस  उसमे  हो वैसा किट ढूँढना बहुत मुश्किल है |जब आप अलग अलग ब्रशस खरीदना है तो, जो ब्रश आप खरीदना चाहते है, उस पर आप नियंत्रण (control) कर सकते है | उत्तम गुण का  रिट्राकटेबल लिप ब्रश  को आप ब्यूटी स्टोर्स (beauty stores) या आन लईन (online) पर पा सकते हैं, लेकिन आपको पहले निश्च्चित करना चाहिए कि ब्रश किस चीज़ से बनी है |

बाज़ार में अलग अलग तरह कि अनेक ब्रशस आप को देखने को मिलता है | कुछ ब्रशस ज्यादा ही कीमत कि होते है पर कुछ ज्यादा ही ब्रशस बजेट मित्र (budget friendly) हैं | ब्रशस खरीदने के समय ब्रश कि कीमत को द्यान में रखना चाहिए और इसके साथ ऊपर दिया गया सुझावों पर भी विचार करना चाहिए | ये सब विवरणों (details) के साथ, आपको   रिट्राकटेबल लिप ब्रश  को दूंदना मुश्किल काम नहीं होता |

हाथों का मोईसचरईज़र खरीदते समय मैं किन किन बातों का ध्यान रखू ? (What Should I Consider When Buying A Hand Moisturizer?)

Hand Moisturizer
हाथों  के मोईस्चराईज़र (hand moisturizer)  का प्रयोग, आपके हाथों की त्वचा को स्वस्थ (healthy) और जवान (young) दिखाने में सहायता करता है |  इन क्रीमों (creams) और लोशनों (lotions) को आपके हाथों को नर्म तथा पर्यावरण (environment) की प्रतिक्रियाओं से त्वचा को सुरक्षित रखने केलिए रूपांतरित किया जाता है |  इन सारी विशेषताओं के अतिरिक्त हाथों के मोईस्चाराइज़र (hand moisturizer) विभीन प्रकार के होते हैं |  सही मोईस्चराईज़र (moisturizer) का चुनाऊ आपके हाथों की त्वचा पर और इस बात पर निर्भर करता है की आप उससे किस प्रकार का परिणाम चाहते हैं |  मोईस्चराईज़र (moisturizer) के उपयोग द्वारा अत्यधिक रूखापन (dryness) , बुढापे की निशानियों (aging symptoms) तथा एक्जीमा (eczema) का उपचार (treatment) किया जा सकता है |  कुछ में तो ये सब स्थितियों का उपचार (treatment) करने की विशेषताएं होती है |

बदलते मौसम से लगातार संपर्क तथा बर्तनों के साबुन (dish soaps) हाथों को रूखा (dry) बनाते है | इसके अनुसार बहुत से लोग हाथों के मोइस्चराईज़र (hand moisturizer) का प्रयोग इन सब समस्याओं से बाहर आने और रूखेपन (dryness) से बचने केलिए करते हैं |  हाथों को रूखे पन (dryness) से बचाने केलिए तेल आधारित मोईस्चराईज़र (moisturizer) का प्रयोग करें जो आपकी त्वचा पर आयी दरारें (cracks) भरकर उसे चिकना करें |  यदि  आप और ज़्यादा रूखापन (dryness) रोकना चाहते हैं तो ऐसे उत्पाद (product) को खोज निकालें जिसमें ऊमेकतेंट्स (humectants) पदार्थ हो जो वातावरण से पानी लेकर त्वचा में जज़्ब (trap) करें |  ये जानने केलिए की मोईस्स्चराईज़र (moisturizer) में ऊमेकतेंट्स (humectants) है या नहीं उसकी समग्रियों (ingredients) को पढ़े |  आमतौर पर ऊमेकतेंट्स (humectants) में लक्टिक एसिड (lactic acid), ग्लीसरीन (glyserin) और युरीया (urea) होती है |

बाक़ी सारी त्वचा (skin) की तरह, आपके हाथों की बाहरी त्वचा की उम्र जैसे जैसे बढ़ती है, इस पर झुर्रियाँ आकर उसकी लचक (elasticity) को भी खो देती हैं |  कुछ मोईस्चराइज़र (moisturizer) बढ़ती उम्र के लक्षणों को टालते हुए उसे कम भी करते हैं |  लम्बे समय तक सूर्य की किरणों की यू वी रेस (UV rays) के संपर्क में रहने से या क्रत्रिम सूत्रों (artificial sources) के संपर्क में आने से त्वचा पर जल्दी झुर्रियाँ आती है,  तथा और भयानक परिणाम  भी होते हैं जैसे स्किन केन्सर (skin cancer) |  इन समस्याओं को विकसित होने से पहले कम करने केलिए ऐसे हैण्ड मोईस्चराईज़र (hand moisturizer) का प्रयोग करें जिस्में सनस्क्रीन (sunscreen) हो, और जिसमे सूर्य से बचने केलिए फेक्टर (factor) एस पी ऍफ़ १५ (SPF 15) या  इससे अधिक हो और इसको प्रतिदिन लगना ना भूलें |

बहुत से हाथों के मोईस्चराइज़र (hand moisturizer) परिपक्व त्वचा (matured skin) का उपचार (treatment) करने का वादा देते हैं |  ये सूत्र (formulas) वास्तव में ऎसी सामग्री (ingredients) के साथ होते हैं, झुर्रियों (wrinkles) वाली त्वचा हटाकर, कोशिकाओं (cell) के विकास को बढ़ावा देते हुए त्वचा को मोटा भी बना देती हैं |  यह मोईस्चराईज़र (moisturizer) पर्यावरण प्रदूषण (environmental pollution) को शांत करके झुर्रीयां (wrinkles) आने से बचाते है |  यदि आप अपनी त्वचा की परिपक्वता (maturity) दूर करना चाहते हैं, तो ऐसे हाथों के मोईस्चराईज़र (hands moisturizer)  का प्रयोग करें जिसमें पेप्टईड्स (peptides), रेटीनल (retinol) और हयद्रोकसी एसिड (hydroxy acids) जैसी सामग्रियां (ingredients) हो | यह बात ध्यान देने योग्य हैं की इन उत्पादों (products) के द्वारा उपचार (treatment) की प्रभावशीलता की ग्यारंटी (guarantee) नहीं हैं और जब आप इन उत्पाद (product) का प्रयोग छोड़ दें तो यह सुधरी हुई त्वचा को फिर से खराब कर सकते हैं  |

यदि आपकी त्वचा एक्जीमा (eczema) जैसी पुरानी स्थिति से ग्रस्त हैं, तो आप ऐसे हाथों के मोईस्चराईज़र (hand moisturizer) का चयन करें, जिसमें ओटमील (oatmeal) तथा हैद्रोकोर्तीजोनं  (hydrocortisone) हो |  कुछ स्थितियों में खुजली वाले हाथों केलिए मोईस्चराईज़र (moisturizer) प्रभावकारी नहीं होते |  यदि आप ये जानलें कि आपके हाथों का मोईस्चराइज़र (hand moisturizer) आपको खुजली से छुटकारा नहीं दे रहा तो देर्मेतेलोजिस्त (dermatologist) से मुलाकात करें |

कितनि तेजी से मनुष्य के बाल बढ़तें है

कितनि तेजी से मनुष्य के बाल बढ़तें है | How fast does human hair grow?
human hair grow
मनुष्य के बाल आमतौर पर आधा इंच या 1.25 सेंटीमीटर प्रति माह बढ़ते है| ऐसे कई कारण है जिससे बलों के विकास और गुणवत्ता पर प्रभाव पड़ता है जैसे आहार, उम्र और सामान्य स्वास्थ्य| एक सामान्य नियम के अनुसार, जो प्रोडक्टये बाल विकास की दर को बढ़ाने का दावा करता है वो उतना प्रभावी नहीं होता है, हालांकि इस तरह के उत्पादों मजबूत, स्वस्थ बालों के विकास को प्रोत्साहित करते हैं|

मानव बाल तीन अवस्था में बढ़ते है| पहली अवस्था ऐनाजेन (anagen) चरण होती है, इस चरण के दौरान बाल सक्रीय रूप से बढ़ता है और ये दो से छह वर्षों तक रहता है| इस चरण के दौरान बाल कूप(hair follicle) की कोशिकाये सक्रीय रूप से विभाजित होती है और बालों को सिर से बाहर धकेलती है| केटेजन (Catagen) चरण के दौरान, कूप(follicle) की बढ़त निष्क्रिय हों जाती है और इससे विकास का दर बंद हों जाता है| टेलोजन(telogen) चरण में बाल टूट के झड़ने लगते है ताकि नए बाल फिर से उग सके|

पोषक तत्व बालों को कोमल और मजबूत बनाने में मदद करते है|  जिलेटिन(gelatin), केरातिन(keratin) , विटामिन ई (vitamin E) और विभिन्न खनिज की खुराक बालों को सुधारते है और स्वस्थ बनाये रखते है जिससे की बाल घने, चमकदार और कम टूटते है| कई लोग नियमित कंडीशनर और गर्म तेल के उपचार का उपयोग करते है ताकि उनके बाल अच्छी हालत में रहे,खासकर जब बाल लंबे होते है| बहरहाल, विकास की दर वास्तव में तेज नहीं हों सकता है, क्योंकि विकास दर कोशिका के विभाजन द्वारा सीमित है|

कुछ कारक है जो बालों के विकास को प्रभावि कर सकते है जिसमे उम्र और चिकित्सा शामिल हैं| जिन लोगों को थायराइड(thyroid) की समस्या रहती है, उनमे अक्सर बालों से सम्बंधित समस्याये भी विकसित होती है| गर्भावस्था में हार्मोनों, वास्तव में बाल विकास की दर को तेजी से बढ़ाते है और अन्य स्थितियों की वर्गीकरण मानव बाल की हालत और विकास दर को प्रभावित करती है| वास्तव में, बाल स्वास्थ्य कभी कभी सामान्य शारीरिक स्वास्थ्य के लिए एक संकेत के रूप में इस्तेमाल किया जाता है|

कुछ लोग अपने बालों को बढ़ाने का प्रयास करते है और कुछ लोगों के बाल  बढ़ते ही नहीं है, एक निश्चित बिंदु के बाद, बाल बहुत पुराना हो जाता है और यह भंगुर(brittle), विभाजन(split) और भद्दा(unsightly) हो जाता है| कुछ व्यक्ति अपने बालों को बढ़ाने में कामयाब हों जाते है, खासकर जब विटामिन के सप्लीमेंट लिए जाते है, जब की दूसरे के बाल कंधे से अधिक लंबा नहीं होता है, इस स्तिथि में अपने बालों को बढ़ाने की कोशिश न करे और कोई छोटे बलों का हेइर स्टाइल अपनाये|

कैसे करू मैं उत्तम कोस्मेटिस्ट दन्त चिकित्सक का चयन ? (How Do I Choose The Best Cosmetic Dentist?)

Cosmetic Dentist
जब आपके दांतों कि सुन्दरता की बात आती है तो यह ज़रूरी है कि उत्तम कोस्मेटिक डेंटिस्ट (cosmetic dentist) का चयन हो  यह कार्य कठिन हो सकता है क्योंकि कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) बड़ी संख्या में उपलब्ध है |  हमें उत्तम कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) का चयन रने केलिए सबसे पहले अपने नियमित दन्त चिकित्सक (dentist) से बात करनी चाहिए |

आपका प्राथमिक दन्त चिकित्सक (dentist) आपको यह बता सकेगा कि आपको और अधिक दांतों को सुधारने  की ज़रुरत है कि नहीं |  यदि आपका दन्त चकित्सक (dentist) आपके हड्डियों के ढाँचे में, मसूड़ों, दांतों या अन्तर्रोध की समस्याएन देखेगा तो वह orthodontist (ओर्थोदोंटिस्ट), periodentist (पीरिओदेन्तिस्त), endodontist (इन्दोदेंटिस्ट) या किसी और दन्त चिकित्सक (dentist) के पास भेजेगा |  जबकि ये विशेषज्ञ कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक नहीं होते, परन्तु अधिकतर मरीजों को जिन्हें दांतों की समस्याएं होती हैं, उन्हें  कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) के पास जाने से पहले दांतों के विशिष्ट विशेषज्ञ के पास जाना होता है |

यदि आपको दांतों की कोई समस्या नहीं है, तब भी आपका सामान्य डेंटिस्ट (dentist) ही सही कोस्मेटिक डेंटिस्ट की दिशा दिखाएगा | आप कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) का चयन अपने सामान्य दन्त चिकित्सक (general dentist) की सलाह को ध्यान में रखकर करें |  इसके अतिरिक्त अपने आस-पास के लोगों से इस बारे में बात करें जिन्होंने कोस्मेटिक (cosmetic) कार्य करवाया है |  दोनों प्रकार के लोगों की सलाह को सामने रखते हुए आप उत्तम कोस्मेटिक डेंटिस्ट (cosmetic dentist) का चयन करसकते हैं |

सभी प्रकार की सलाह लेने केलिए यह आवश्यक है कि आप हर क्षम विशेषज्ञ (professional) से कुछ महत्त्वपूर्ण सवाल करे, जैसे कि क्या वे कोस्मेटिक डेन्तिस्ट्री (cosmetic dentistry) अमेरिकेन अकादमी  के सदस्य है |  दन्त चिकित्सक जो इस संघ के सदस्य होते हैं, उन्हें इस पेशे को अपनाने से पहले नैतिक व्यावहारिक और चिकित्सा परीक्षाओं से गुज़रना होता है |  इस प्रकार दन्त चिकित्सक (dentist) जो  कोस्मेटिक डेन्तिस्ट्री (cosmetic dentistry) अमेरिकन अकादमी के हिस्सा हो वे अक्सर उत्तम कोस्मेटिक विशेषज्ञ (cosmetic professional) होते हैं |

तदुपरांत हर कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) से यह सवाल करें कि क्या वे पूर्ण मुंह पुनर्निर्माण कर सकते हैं ?  कुछ दन्त चिकित्सक (dentist) इस कार्य को केवल आधा करने में सक्षम होते हैं, जिसका मतलब है कि आपको किसी अन्य विशेषज्ञ को ढूँढना होगा, अगर आपको बड़े पैमाने पर पुनर्निर्माण कार्य की आवश्यकता है, तो यह उत्तम होगा कि आप ऐसे कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) की तलाश करें जो आपका काम पूरी तरह कर सके |

इसके अतिरिक्त चिकित्सक से यह सवाल करें कि वह किस प्रकार के उपकरणों (equipment) का प्रयोग करेंगे | क्या आपके द्वारा चुना गया कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) नवीनतम तकनीक का उपयोग करता है |  क्या वे नयी तकनीकों की तस्वीरें और नमूने का उदाहरण बता सकते हैं |  अंत में यह पता करें कि दन्त चिकित्सक (dentist) कितने समय से यह पेशा अपनाए हुए हैं?  यदि आप एक नए अनुज्ञापित (licensed) कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) के साथ सहज महसूस न करें तो फिर उसकी तलाश करें जो इस पेशे को कई सालों से अपनाये हुए हैं |  दूसरी ओर नव प्रशिक्षित चिकित्सक को दांतों के कोर को काटने की टक्नोलेजी (technology) और तकनीक (technique) का ज़्यादा ज्ञान हो सकता है |  उत्तम कोस्मेटिक दन्त चिकित्सक (cosmetic dentist) का पता लगाने का मतलब है कि आप उस पर अपने दांतों का काम लेने केलिए भरोसा कर सकते हैं |

बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) क्या है?

बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) क्या है? | What are Bath Fizzies?
Bath Fizzies
बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies), चमकने वाली गोलिया (effervescent tablets) होती है जिसे नहाने के पानी में रखा जाता है ताकि उससे मज़ा (fun) और आराम (relaxation) मिल सके| इन्हें बाथ बम (bath bombs) या बाथ सेल्टज़र्स (bath seltzers) के रूप में भी जाना जाता है| अधिकांश बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) का आकार गोल होता है, और लगभग 6 औंस (170 ग्राम), और इसका आकार एक बड़े रूई के गेंद के समान होता है|

जब आप एक बार पानी में लेट जाते है, तब बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) को आमतौर पर पानी में रखा जाता है| जिससे वो पानी में घुल के बुलबुले (bubbles) के रूप में निकालना शुरू होते है, ये पानी के चारो ओर फैलते है, जिससे की शरीर की मालिश (massage) होती है और थके (tired) हुए शरीरी और मांसपेशियों (muscles) को आराम मिलता है| अक्सर बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) में से मोहित खुसबू (pleasing aroma) आती है जैसे लैवेंडर (lavender), गुलाब (rose), और वेनिला (vanilla) जो की आराम पहुचाने में मदद करती है| कुछ फ़िज़ (Fizzies) जिसमे अतरिक्त सामग्रिया होती है, वो आपकी त्वचा को माय्स्चराईज़ (moisturize) करता है और पानी को नरम बनाता है|

बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) सुंदर रंगों और विभिन्न डिजाइनों (design) में आते हैं| वे बहुत महंगे नहीं होते हैं और किसी भी दवा की दूकान (drugstores), डिस्काउंट स्टोर (discount stores), या स्पा (spa) में लगभग 5 अमरीकी डॉलर (USD) में मिल जाते है| आप इन्हें तीन या चार के सेट (set) में एक सजावटी बॉक्स (decorative box) के रूप में भी खरीद सकते है|

आप बच्चो के लिए बनाये गए बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) भी खरीद सकते है, यद्यपि इन्हें केवल माता पिता के पर्यवेक्षण के साथ ही प्रयोग किया जाना चाहिए| बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) बच्चो के लिए तब तक सुरक्षित होते हैं, जब तक की बच्चो इसे मुँह में ना रखे, वे आम तौर पर गैर विषैले (non-toxic) होते है, लेकिन उपभोग के लिए निश्चित रूप से सुरक्षित नहीं है| ये नहाने वाले पानी को मजेदार रंग (fun colors) में बदल देते है, और जो बच्चे नहाने में आनाकानी करते है वो भी इसे देख कर आकर्षित हों जाते है|

ध्यान रखे की बाथ बम (bath bomb) को उपहार के रूप ने भी भेट किया जाता है, दुल्हन के लिए एक रचनात्मक शादी के उपहार के रूप में भेट किया जाता है, बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) एक आरामदायक स्पा (spa) उपहार बास्केट (basket) है जिसमे विभिन्न प्रकार की चीज़े होती है जैसे बब्ल बाथ (bubble bath), लोशन (lotion), और  सुगंधित मोमबत्तीया (scented candle)| दुल्हन अपनी सहेली को शादी का हिस्सा होने के लिए एक धन्यवादी उपहार के रूप में बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) दे सकती है| एक अच्छ बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) का सेट मातृ दिवस (mother’s day) के उपहार के रूप में भी दे सकते है|

बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) को खरीदने से अच्छा, एक सस्ता विकल्प यह है की इसे आप खुद बनाये| यदि आप ऐसा करते है, तों एक साँचे की मदद से इसे एक मज़ेदार आकार भी दे सकते है- आप को जो दुकानों में मिलता है उसमे सीमित नहीं रहेंगे| इसकी सामग्री को खोजना अधिक मुश्किल नहीं है, यहाँ तक की जो अधिकांश बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) जो दुकानों में मिलते है वो बेकिंग सोडा (baking soda), साइट्रिक एसिड (citric acid), आवश्यक तेलों (essential oil) और खुशबू (fragrance) से बनते है|

खुद से बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) बनाने के लिए, एक भाग साइट्रिक एसिड (citric acid) का ले और दो भाग बेकिंग सोडा (baking soda) ले फिर दोनों को अच्छी तरह पीस ले| आप इस चरण के लिए एक मिश्रक (mixer) का उपयोग कर सकते है| इस के बाद, आप थोड़ा पानी घुलनशील colorant (water-soluble colorant) को उस मिश्रण में डालिए, अच्छा होगा की आप बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) के लिए तैयार किया गया colorant का उपयोग करे, ताकि आपके टब (tub) और आप के ऊपर दाग ना लगे| इस colorant को ऑनलाइन (online) द्वारा आसानी से मंगवा सकते है|

अब आप इसमें आवश्यक तेल (essential oil) और अन्य सामग्री जो आप डालना चाहते है वो सब मिला ले, यदि आप अपनी त्वचा को माय्स्चराईज़ (moisturize) करना चाहते है तों आप इसमें समुद्री नमक (sea salt) और कॉर्नस्टार्च (cornstarch) मिलाए| अंतिम सामग्री जिसकी जरुरत है वो है स्प्रे बोतल (spray bottle) जो की विच-हैजल (witch hazel) युक्त है| मिश्रण के ऊपर तीन से चार बार विच-हैजल (witch hazel) स्प्रे को छिड़के और मिश्रण को अच्छी तरह मिलाए| मिश्रण के ऊपर लगातार स्प्रे (spray) को छिड़के और मिलाते रहे जब तक की वो एक चिपचिपा स्थिरता (sticky consistency) ना बन जाये| यह प्रक्रिया कुछ समय लेता है, लेकिन यह बहुत महत्वपूर्ण है गीले और सूखे सामग्री के बीच सही संतुलन बने रखना|

जब आप मिश्रण को उंगलीयों से दबाते है तब ये मिश्रण एक दूसरे के साथ चिपकने लगते है, उस वक्त इस मिश्रण को साँचे (mold) में डालीये| साँचे (mold) में मिश्रण को जोर से दबा के रखे ताकि वो ठीक ढंग से सेट (set) हों जाये और इसे कुछ मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दे, फिर इसे सांचे (mold) में से निकाल दे और पूरी रात सूखने दे| घर पर बने बाथ फ़िज़ (Bath Fizzies) को किसी सूखे स्थान पर रखे ताकि वो टूट ना पाए|

 

कैसे करूं मैं उत्तम जेल क्लेंज़र का चुनाव ? (How Do I Choose The Best Gel Cleanser?)

Gel Cleanser
चहरे की भीतर से सफाई करने केलिए जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) को दिन में दो बार प्रयोग किया जा सकता है, जिससे आप चहरे को साफ़, नर्म (soft) और स्वस्थ रख सकते हैं | उत्तम  जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) का  चयन करने केलिए आप अपनी त्वचा कि विशेषता, उसकी संवेदनशीलता (sensitivity) के साथ साथ अपनी प्राथमिकताओं को भी ध्यान में रखें |  जो जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser)आप कि त्वचा के साथ जमेगा वह आपकी त्वचा पर अधिक प्रभाव कारी होगा |  इसलिए यह बहतर होगा कि आप इसका चयन ध्यान पूर्वक करें |

सामान्यतः पांच प्रकार की त्वाचएं देखने को मिलती हैं : चिकनी (oily), रूखी (dry), संयोजित (combination), सामान्य (normal) और मुहांसों से प्रभावित (acne prone) |  यदि आप यह नहीं जानते कि आपकी त्वचा किस प्रकार की है तो सरलता के साथ अपनी त्वचा का कुछ दिनों केलिए निरीक्षण करें |  चिकनी त्वचा अक्सर (oily skin) धोने के बाद भी चिप चिपी लगती है |  रूखी  त्वचा (dry skin) पर चहरा धोने के बाद लाली (redness), छिलकों का आना (flaking) या त्वचा में कसी हुई भावना होना एक आम  बात है |  संयोजित त्वचा (combination skin) में रूखी और चिकनी त्वचा (dry and oily skin) का सामंजस्य (combination) होता है, इसके अंतर्गत अक्सर नाक (nose), ठूडी (chin)  और पेशानी (forehead) पर त्वचा चिकनी (oily) महसूस होती है, जिस क्षेत्र को टी ज़ोन (T zone) कहा जाता है, जबकि गालों की त्वचा रूखी (dry) होती हैं |

मुहांसों से प्रभावित त्वचा (acne prone) पर धब्बे (blemishes) या काले बाल (black heads) होते है |  अंत में सामान्य त्वचा (normal skin) ना ही रूखी (dry) होती है और न ही अधिक चिकनी (oily), यह स्वस्थ लगती है, परन्तु फिर भी इसके स्वस्थ और साफ़ रूप केलिए इसकी भी देख भाल की आवश्यकता होती है |  इसकी अधिकतर संभावना होती है की आपकी त्वचा इन पांच त्वचा के प्रकार में ही आयें, तो उत्तम जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) का चयन करने केलिए यह अत्यधिक आवश्यक है कि अपनी त्वचा को जितना हो सके उतना करीब से समझा जाएँ |

विभिन्न प्रकार कि त्वचा केलिए विभिन्न प्रकार के जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser)उपलब्ध हैं, और इस पर आम तौर पर सही चिन्ह (right mark) होता है |  मुहोंसों से प्रभावित त्वचा (acne prone skin) केलिए अच्छा होगा कि एक जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) चुना जाए जिसमें सेलिसैलिक एसिड (salicylic acid) या बेन्जोल पेरोक्सैद (benzoyl peroxide), ये दो मुहांसों (acne) से लड़ने वाली सामग्रियां (ingredient) हो |  रूखी त्वचा (dry skin) केलिए हलकी मोइस्चराइज़िन्ग सामग्री (light moisturizing ingredients) प्रभावकारी सिद्ध हो सकती है |  जबकि चिकनी त्वचा (oily skin) केलिए आपको ऐसे जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) का चयन होगा जिसमे मोइस्चराईज़र (moisturizer) की मात्रा बहुत ही कम हो |

सामान्य त्वचा (normal skin) केलिए, ऐसे जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser)का चयन करें, जिसे अतिरिक्त सामग्री (ingredients) के साथ रूपांतरित (designed) ना किया जाएँ या उनमे ऎसी चीजों का उपचार (treatment) ना हो, जिसकी समस्या आपको नहीं है |  अतिरिक्त सामग्री (ingredient) मे जिसकी आपको आवश्यकता नहीं, त्वचा को चिढ चिढा हट (irritation) देने की क्षमता होती है |  यदि आपकी त्वचा संवेदनशील (sensitive) या एल्लेर्जिक प्रतिक्रियाओं (Allergic reactions) की आदि है तो प्राकृतिक या हैपर एल्लेर्जिक जेल क्लेंज़र (Hyper allergic Gel Cleanser) का चयन उत्तम होगा |

यह आवश्यक होगा कि परीक्षण और त्रुटि के द्वारा जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) का चयन किया जाएँ |  थोड़ा सा क्लेंज़र (cleanser) नमूने (sample) के रूप में खरीद कर उसका प्रयोग करना अच्छा होगा |  एक नए जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser)को त्वचा पर अपना प्रभाव सिद्ध करने में आम तौर पर दो हफ्ते लगते हैं |  यदि आपको जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) से किसी प्रकार की चिढ चिढ़ा हट, दर्द, चकते आये या अन्य प्रकार की कोई एल्लेर्जिक प्रतिक्रिया महसूस हो तो तुरंत ही आप उसका प्रयोग बंद करदें |  यदि आपककी त्वचा विशेष प्रकार से कष्ट प्रद है तो स्पा (spa) या सलोन (salon) में एक त्वचा रख रखाव विशेषज्ञ (specialist) आप केलिए उत्तम जेल क्लेंज़र (Gel Cleanser) का चयन करने में सहायक हो सकता है |  इसके अतरिक्त एक देर्मेतोलोजिस्त (dermatologist) भी आपको अच्छी सलाह दे सकता है, विशेषकर जब आपकी त्वचा मुहांसों (acnes) या एल्लेर्जिक प्रतिक्रियाओं (allergic reactions) की आदि हो |