झुर्रियों को कम करने केलिए हम क्या कर सकते हैं ? (What Can I Do To Reduce Wrinkles?)

prevent Wrinkles
झुर्रियाँ (wrinkles) त्वचा पर होनेवाली रेखाएं हैं जो एक असमान रूप बनाता है | झुर्रियाँ (wrinkles), कोल्लेजेन (collagen) कम होने से, उम्र के साथ लचीला पन (elasticity)खो जाने से , वज़न कम होने से या त्वचा को नुकसान होने के कारण आतीं हैं | झुर्रियों (wrinkles) की गहराई और आकार को कम करने केलिए कई प्रकार के उपचार (treatments) उपलब्ध हैं, घरेलू नुकसों (home remedies) से जिसमे रसोई (kitchen) की सामग्री आती है, कोस्मेटिक प्रक्रियाओं (cosmetic procedures) तक, जिसमें हज़ारों डॉलरों (dollars) के खर्चे के साथ आश्चर्य जनक परिणाम वादे के साथ मिलते हैं |  अंत में यह तय करना झुर्रियों (wrinkles) को कम करने केलिए किस विधि (method) का प्रयोग किया जाये यह बजट, समय और व्यक्ती विशेषपर  निर्भर करता है कि उसे किस प्रकार की चिकनी त्वचा चाहिए |

झुर्रियों (winkles) को कम करने केलिए घरेलू उपचारों (home remedies) का प्रयोग प्राकृतिक और बुनियादी तरीकों मे से हैं, परन्तु  इसे सिर्फ अस्थायी (temporary) और छोटी झुर्रियों को कम करने केलिए किया जाता है | क्योंकि त्वचा की चिकनाई उसमे छिपे वसा (fat) और नामी (moisture) पर निर्भर होती है, इसलिए कुछ घरेलू नुकसों (home remedies) में प्रभावित स्थान पर रात भर  नारियल (coconut oil) या जैतून का तेल (olive oil) लगाने की सलाह दी जाती है | अन्य लोग त्वचा का लचीला पन (elasticity) बढाने और मांसपेशियों (muscles) के तनाव को कम करने केलिए जो रोजाना के नियमित बार बार कार्यों के कारण हो जाता है, प्रतिदिन कुछ चहरे का मस्साज (facial massage) और स्ट्रेचिंग सेशन (stretching sesion) की सलाह देते हैं |

जिन्हें अधिक उन्नत उपचारों की आवश्यकता है उनके लिए झुर्रियों को कम करने केलिए विशेष प्रकार से बने क्रीम और गेल उपलब्ध हैं |  अधिकतर क्रीम के अन्दर ऎसी सामग्री होती है कोशिकाओं को उत्तेजित करते हुए उन्हें प्रजनन (reproduce) करते हैं | जिससे वे बढ़ जाते हैं | एंटी क्रीम (anti cream) सामग्री में अक्सर रेटीनोल (retinal) पाया जाता है | जो एक आसानी से सोख लेने वाला विटमिन ए तरल पदार्थ है(vitamin A solution) , इसके अतिरिक्त उच्च एसिडिक तरल पदार्थ (highly acidic solution) जैसे अल्फा ह्य्द्रोक्सी एसिड (alpha hydroxy acid) का भी प्रयोग मृत त्वचा की कोशीकाओं (cells) को हटाने और नयी त्वचा को पैदा करने केलिए किया जाता है, जिससे झुर्रियाँ कम हो जाती है |

झुर्रियों को कम करने केलिए अनेक बहरी कोस्मेटिक प्रक्रियाएं लोकप्रिय है  | जैसे बोटोक्स (botox), एक प्रकार का इंजेक्शन है, जो झुर्रियाँ (wrinkles) कम करने केलिए बहुत अच्छा काम करता है, जो रोजाना के कार्यों और चहरे (face) की प्रतिदिन कि गतियों से बनती हैं, हँसी की रेखाएं, आँखों के पास की, या पेशानी की झुर्रियाँ आदि  दुर्भाग्यता से इस इंजेक्शन (injection) को ज़्यादा मात्रा में लेने से अभिव्यक्ती करने में हानि (loss of expression) या चहरे का फालिज (facial paralysis) हो जाता है |  फिर भी कुछ लोग बोटोक्स (botox) इंजेक्शन का ही प्रयोग करते हैं |

झुर्रियों (wrinkles) को कम करने केलिए एक अन्य प्रकार की कोस्मेटिक प्रक्रिया (cosmetic procedure) रसायन पील्स (chemical peels) को प्रयोग करने की है | केमिकल पील (chemical peel) का कार्य आमतौर पर चिकित्सा देखरेख (medical supervision) में किया जाता है, इसके प्रयोग से बहुत बड़ा दुष्प्रभाव भी हो सकता है |  ये त्वचा को चिकना करने का काम करता है जो शातिशाली एसिड (acid) के तरल पदार्थ से बनाया गया मास्क (mask) होता है |  इसके प्रयोग से त्वचा सूर्य की किरणों में खराब हो जाती या आमतौर पर लाल हो जाती है, इसके अतिरिक्त त्वचा का रंग स्थायी रूप से कम होजाता है |

झुर्रियों को कम करने की सबसे कठिन विधि पूर्ण चहरे की सर्जरी (full facial surgery) होती है |  फेशल  सर्जरी के अंतर्गत चहरे को शैल्य (surgically) प्रक्रिया द्वारा कसकर झुर्रियों का कम किया जाता है, जिससे आप कम उम्र के दिखायी देते हैं |  हालांकि सदियों से झुर्रियों को कम करने केलिए यह मानी गयी  शैल्य प्रक्रिया है, फिर भी नयी लेज़र (laser) पर आधारित प्रक्रियाएं बहुत लोकप्रिय होगयी हैं |  लेज़र रेसुर्फेसिंग (laser resurfacing) प्रक्रिया के अंतर्गत, झुर्रियों को लेज़र बीम (laser beem) के द्वारा जला कर नयी स्वस्थ त्वचा को बनने दिया जाता है |

Related search terms:

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply

Powered by WordPress | Designed by: seo services | Thanks to seo company, web designer and internet marketing company