अइब्रो थ्राडिंग क्या है? (What is Eyebrow Threading?)

Eyebrow Threading

अइब्रो थ्राडिंग (Eyebrow Threading) एक डीपलियेशन (Depilation) तकनीक है जो भारत में शुरू हुई थी | हालांकि यह मध्य पूर्व में भी इसका अभ्यास किया जाता था | दशकों पहले यह सेवा मध्य पूर्वी ग्राहकों के लिए पश्चिमी देशों ने यह सैलून (Salons) शुरू किया गया, जिसमे यूरोपीय और अमेरिकी महिलाओं ने अपनी दिलचस्पी दिखाइ और अइब्रो थ्राडिंग की लोकप्रियता आसमान छूने लगी |

बालों को हटाने का तकनीक न केवल आइब्रो बस के लिए था बल्कि ये पुरे शरीर के बालो को दूर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है | सैलून के मेनू कार्ड (Menu card) पर फत्लाह (Fatlah) और किथे (Khite) अरबी शब्द, थ्राडिंग (Threading) के लिए प्रयोग करते थे | आमतौर पर, एक धागे के टुकडे को घुमा कर किनारा डबल करके इस दोहरे फंसे धागा को अइब्रो के अनियमित बालों को हटा कर एक लाइन में लाया जाता है जिससे अइब्रो साफ, सटीक धिख सके |

अइब्रो थ्राडिंग (Eyebrow Threading) भारतीय फिल्म सितारों का पसंदीदा तकनीक है क्यूंकि उनकी भौं करारी धिखती है जो उन्हें खास बनाती है | अइब्रो थ्राडिंग (Eyebrow Threading) का प्रयोग उन बालों के लिए किया जाता है जो दो भौंओ की बीच में रहती है, जिसे देखने से ऐसे प्रतीत होता है की दोनो भौं जुड़े हुए है | इन्हें धागे के टुकडे से निकाला जाता है, यह एक काफी लंबे समय से स्थायी बालों को हटाने की तकनीक है |

तीन से चार सप्ताह के बाद ये फिर से दोहराना पडता है | यह तकनीक अधिक महँगी भी नहीं है और जल्दी और आसानी से हों जाती है और इसके लिए कोइ महंगी सामग्री की आवश्यकता नहीं पड़ती | वो महिलाये जो अधिक प्राकृतिक सुंदरता चाहती है उनके लिए अइब्रो थ्राडिंग अच्छा विकल्प है, क्योंकि यह हानिकारक उत्पादों का उपयोग नहीं करता|

Related search terms:

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply

Powered by WordPress | Designed by: seo services | Thanks to seo company, web designer and internet marketing company